Home / Gemstones / Duplicate Vs Original Coral
Duplicate Vs Original Coral

Duplicate Vs Original Coral

मूंगा समुद्र में झाडी के रूप में पाया जाता है | यह साधारणत: सफेद और लाल रंग में पाया जाता है | लाल रंग के मूंगे की रंगत में काफी फर्क देखने को मिलता है | गहरा लाल और कुछ नारंगी रंग लिए हुए तथा हलके लाल रंग का मूंगा बाजार में देखने को मिलता है | सामान्यतया मूंगा केप्सूल शेप में अधिक चलता है | तिकोना मूंगा महंगा होता है क्योंकि इसे ऐसा आकार देने के लिए जो इसकी कांट छांट की जाती है उसमे काफी मात्रा में मूंगा बेकार चला जाता है |

लोग कहते हैं कि तिकोना मूंगा अधिक लाभदायक होता है | मेरा मानना यह है कि तिकोना मूंगा लाभदायक होता है इसमें संशय नहीं है परन्तु हर किसी को तिकोना मूंगा पहनने से बचना चाहिए क्योंकि यदि मंगल मारकेश है तो या तो मूंगा मत पहनें फिर भी यदि पहनना जरूरी हो तो त्रिकोणाकार की बजाय केप्सूल आकार का पहनें | मैं तिकोना मूंगा पहनने की सलाह मांगलिक योग में तब देता हूँ जब मंगल पापी ग्रहों के साथ हो या चतुर्थ, अष्टम और द्वादश भाव में बैठा हो |

जहाँ तक मूंगे के प्रभाव का प्रश्न है तो हर व्यक्ति की कुंडली में मंगल या तो अच्छा होता है बुरा या फिर माध्यम | गहरे लाल रंग का मूंगा उनके लिए जो मंगल की राशि यानी मेष और वृश्चिक से सम्बन्ध रखते हैं | हलके रंग का मूंगा धनु, कर्क और सिंह राशि के लोगों के लिए श्रेयस्कर होता है |

एक मान्यता यह भी है कि मूंगा रंग बदलता है जो कि सच भी है | उत्तम मूंगा रंग बदल कर खतरे के प्रति सचेत कर देता है | इस रत्न की एक यह भी विशेषता है कि यदि आपके लिए मूंगा अनुकूल नहीं है तो पहनने के स्थान पर खुजली या एलर्जी शुरू हो जाती है | मारकेश होने की स्थिति में झगड़ा या चोट चपेट का भय रहता है | क्रोध अधिक आता है |

वास्तव में मूंगा एक लकड़ी है | हाथ में लेकर मूंगे का वजन देखकर लोग भांप जाते हैं कि मूंगा असली है या नहीं |
मूंगे की मांग अब अधिक बढ़ गई है | असली मूंगा यदि चार पांच रत्ती का खरीदना हो तो सस्ता मिल जाता है | जितना अधिक वजन बढ़ता जाता है उतना ही मूंगे की कीमत बढ़ जाती है | तिकोना मूंगा और भी महंगा होता है |

नकली मूंगा

मूंगा आजकल काफी कम आ रहा है इसलिए मुंहमांगे रेट पर बिकता है | नकली की जिन्हें पहचान नहीं है वे संग्मूंगी से धोखा खा जाते हैं | चूड़ी के कांच से तैयार किया मूंगा लोग असली समझ कर खरीद लेते हैं |

नकली मूंगा नीचे से सपाट होता है | इस तरह का मूंगा ऊपर से देखने पर बिलकूल असली लगता है | असली मूंगे को आग लगाएं तो उसी तरह जलेगा जैसे लकड़ी | अच्छे मूंगे की पहचान उसकी चिकनाहट से होती है परन्तु कृत्रिम चिकनाहट के लिए पदार्थों का इस्तेमाल किया जा सकता है इसलिए केवल एक नियम के आधार पर मूंगे की गुणवत्ता की परख नहीं होती |

 

About creativehelper

Leave a Reply

Scroll To Top