Home / Hindi Articles / प्रेम विवाह की भविष्यवाणी – Love Marriage Prediction in Hindi
प्रेम विवाह की भविष्यवाणी – Love Marriage Prediction in Hindi

प्रेम विवाह की भविष्यवाणी – Love Marriage Prediction in Hindi

प्रेम के विषय में अक्सर यह कहा जाता है की प्रेम की कोई वजह नहीं होती परंतु सच तो यह है की प्रेम की भी वजह होती है और यह वजह है आपकी कुंडली के वह ग्रह जो आपको प्रेम में पढ़ने को मजबूर करते हैं

इस पोस्ट में हम आपका परिचय करवाएंगे ऐसे ग्रहों से जो किसी की तरफ हमें आकर्षित करते हैं बाद में यह आकर्षण जुनून बन जाता है और यही प्रेम है इस पोस्ट में आप यह भी जान पाएंगे कि कब आपको किसी से प्रेम होता है इसके अतिरिक्त प्रेम में सफलता और असफलता ज्योतिष के अनुसार

तो आइए जानते हैं कि कौन से ग्रह उत्तरदाई हैं प्रेम संबंधों के लिए

प्यार होता है जब ग्रह स्थिति हो ऐसी

आपकी जन्म कुंडली में लग्न कुंडली का पांचवा घर चंद्रमा और शुक्र यह चारों घटक आपको किसी से प्रेम करने को मजबूर करते हैं

लग्न आपका स्वयं का व्यक्तित्व है आप जो कुछ हैं वह लगन से ही पता लगता है कुंडली का पांचवा घर मनोरंजन का स्थान अवश्य है परंतु प्रेम सबसे बड़ा मनोरंजन है और इसके रहते किसी प्रकार के मनोरंजन की आवश्यकता नहीं रहती अब आइए चंद्रमा पर गौर करते हैं यह आप का मन है जितना शुभ होगा मन उतना ही अच्छा होगा जितना खराब होगा आप उतना ही जल्दी विचलित और आकर्षित हो जाते हैं अक्सर ऐसे लोग बार-बार भावुक हो जाते हैं जिनका चंद्रमा कमजोर होता है और प्रेम से बड़ी भावुकता और क्या है

अब बात करते हैं शुक्र की यही तो है जिस की तरफ हम आकर्षित होते हैं सुंदरता हर चमकीली चीज को देखने के लिए मन लग जाता है चाहे वह मुसीबतों से भरी क्यों ना हो

जब लग्न की दशा आती है तो आपके व्यक्तित्व में निखार आता है स्वाभाविक है कि कोई आपकी तरफ आकर्षित हो जाए जब पांचवे घर के स्वामी की दशा आती है तब आपका मन स्वाभाविक रूप से किसी की ओर आकर्षित होता है या यूं कहिए कि आप किसी से प्रेम करने लगते हैं जब चंद्रमा की दशा आती है तो आपकी इच्छाएं बढ़ती जाती है हर दिन आपको कुछ ना कुछ चाहिए और यह इच्छाएं इतनी अधिक बढ़ जाती हैं कि हीन भावना महसूस होने लगती है जब शुक्र की दशा आती है तो आप प्रेक्टिकल रूप से प्रेम की दिशा में आगे बढ़ते हैं

आशा करता हूं कि आप समझ गए होंगे कि ग्रह कैसे अपनी मनमानी करते हैं

Love prediction

प्रेम विवाह में सफलता

अब यह एक अलग चीज है प्रेम संबंधों में किसी एक पर यह निर्भर नहीं करता बल्कि दोनों पक्षियों पर गौर करने के पश्चात कहा जा सकता है कि आपका प्रेम सफल होगा या नहीं कुंडली के पांचवे घर में जितने ग्रह बैठे होंगे आपके प्रेम-संबंध भी उतने ही होते हैं पांचवे घर पर जितने ग्रहों की दृष्टि होगी प्रेम संबंधों में उतनी बार आपको मदद मिलेगी शुभ ग्रह मदद करवाते हैं और अशुभ ग्रह विरोध और जब पांचवें घर का संबंध सातवें घर से या आपकी कुंडली के लग्न लग्नेश से हो जाए तब आप का यह प्रेम विवाह में तब्दील हो जाता है इसे कहते हैं लव मैरिज यही है प्रेम की सफलता

प्रेम सम्बन्धों की विफलता

कुंडली के पांचवे घर पर जितने अशुभ ग्रहों का प्रभाव होगा प्रेम संबंधों में असफलता का प्रतिशत उतना ही अधिक बढ़ता जाएगा दो या दो से अधिक अशुभ ग्रह जैसे सूर्य मंगल शनि राहु केतु इनमें से कोई भी दो या दो से अधिक ग्रह जब पांचवें घर पर मौजूद हो तो कोई चमत्कार ही आपको प्रेम में सफलता दिला सकता है क्योंकि ईश्वर ने यह ग्रह पृथक करने के लिए बनाए हैं और पृथकता के लिए और भी कई चीजें हैं जिनका उल्लेख यहां करना संभव नहीं है असल में सफलता के योग कम होते हैं और सफलता के योग कहीं अधिक ज्यादा होते हैं

शायद यही कारण है कि एक छोटी सी बात से आप का संबंध टूट जाता है इसलिए यदि आप किसी से प्रेम करते हैं तो रिश्ते की गंभीरता को समझने की कोशिश करें

यहां एक बात का उल्लेख और करना चाहूंगा वह है प्रेम और रहस्य इन दोनों का चोली-दामन का साथ है जहां प्रेम है वहां रहस्य है और यह रहस्य राहु से पैदा होता है कभी-कभी हमें किसी के प्रेम की खबर तब लगती है जब तक बहुत देर हो चुकी होती है इसलिए जब राहु मदद करें तो किसी और ग्रह की आवश्यकता ही नहीं होती यानी राहु एक अकेला ऐसा ग्रह है जो यदि पांचवे घर में मौजूद हो तो आपका प्रेम एक रहस्य रहेगा और यह रहस्य पूरी तरह से राहु पर निर्भर करेगा यदि राहु अच्छा है तो एक बहुत बड़े सरप्राइज़ के साथ आपका प्रेम दुनिया के सामने आएगा

प्रेम की भविष्यवाणी की जा सकती है परंतु कोई आप से कितना प्रेम करता है यह केवल वही जानता है ज्योतिष बता सकता है की आपके जीवन में कोई कब आएगा बस आपको आवश्यकता होगी ज्योतिष के साधारण ज्ञान की

About creativehelper

Leave a Reply

Scroll To Top